इन कारणों से आपका वजन बढ़ता है | Cause of weight gain in hindi

आज की भाग-दौड़ भरी ज़िंदगी में आँख खुलते ही इंसान काम पर लग जाते हैं। आज चाहे पुरुष हों या महिलाएं सभी दो वक़्त की रोटी की जुगाड़ में लगे हैं। सभी लोग पैसा अच्छी ज़िंदगी के लिए कमाना चाहते हैं लेकिन फिर भी शरीर का ध्यान नहीं रख पाते हैं और वजन बढ़ने लगता है। इसी वजन के कारण कई प्रकार की बीमारियों का सामना करना पड़ता है। लेकिन आप समझ नहीं पाते हैं कि आखिर क्यों वजन बढ़ रहा है, इसीलिए आज हमने इस लेख में वजन बढ़ने से संबंधित कुछ अध्यन को शामिल किया है। आप इस लेख को पूरा पढ़ें जिससे आप वजन बढ़ने से संबंधित कारणों को समझ पाएं। यहाँ हम वजन बढ़ने के ऐसे कारणों पर प्रकाश डाल रहें हैं जिससे कि हमारे ज्ञान में वृद्धि होती है और जो हमारी दिनचर्या सुधारने में मदद कर सकतें हैं। लेकिन Health से संबंधित किसी भी समाधान के लिए आपको या हमें, अपने डॉक्टर से ही सलाह लेना उचित होता है।


चलिए अब हम एक-एक करके वजन बढ़ने के कारणों पर चर्चा करते हैं।


इन कारणों से आपका वजन बढ़ता है | Cause of weight gain in hindi


वजन बढ़ने का कारण क्या है ? | Cause of weight gain in hindi


शरीर में पानी की मात्रा ( वॉटर रिटेंशन ) के कारण वजन बढ़ना - 

शरीर में पानी वॉटर रिटेंशन की वजह से इकठ्ठा हो जाता है जिसकी वजह से शरीर का वजन बढ़ जाता है। वॉटर रिटेंशन के कारण शरीर में पानी और नमक दोनों की मात्रा बढ़ जाती है। वॉटर रिटेंशन के कारण शरीर में कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। शरीर में बहुत से कारणों से वॉटर रिटेंशन होता है। ( टिशू में पानी की ज्यादा मात्रा से यह मतलब नहीं की आपको पानी कम पीना है, पर्याप्त मात्रा में अच्छा पानी पीने से या hydrated रहने से वॉटर रिटेंशन कम होता है )


हार्मोन के असंतुलन के कारण वजन बढ़ना - 

शरीर में तरल पदार्थों की मात्रा को एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन नामक हार्मोन संतुलित करते हैं। एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन नामक हार्मोन में उतार-चढाव के कारण भी शरीर के टिशू में पानी की मात्रा बढ़ जाती है।

ब्लड सर्कुलेशन सही न होना - ब्लड सर्कुलेशन सही न होने की वजह से भी शरीर में पानी की मात्रा अधिक हो जाती है।


शुगर बढ़ना - यदि आपके शरीर में शुगर बढ़ती है जिसका कारण आपका ज्यादा मीठा खाना या सुगर की बीमारी का होना इसके कारण इंसुलिन लेवल भी बढ़ जाता है और यह शरीर में पानी की अधिक मात्रा का कारण बनता है।
दवाओं के कारण - कुछ दवाएं ऐसी भी हैं जिनके कारण शरीर का फ़्लूड शरीर के बाहर नहीं निकल पाता है। अच्छा है कि इस विषय पर आप अपने डॉक्टर से सलाह लें कि कहीं कुछ दवाएं आपके शरीर में पानी की ज्यादा मात्रा का कारण तो नहीं बन रहीं हैं।


सोडियम की मात्रा - यदि आप ज्यादा नमक खा रहें तो आपको बता दें नमक में सोडियम की मात्रा होती है जो आपके शरीर में ज्यादा पानी की मात्रा का कारण बन सकता है।


गलत खान-पान - गलत खान-पान भी जैसे पिज़्ज़ा, बर्गर, समोसे ज्यादा फ्राई फ़ूड खाना आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है और आपके लिए मोटापा और वजन बढ़ने का कारण बन सकता है।


रात को जागना - अक्सर रात को जागने वाले लोगों को अचानक भूंख लग आती है और जो कुछ भी ठंडा, वासा खाना उन्हें मिल जाता है उसे खा लेते हैं। इस कारण शाम के भोजन के बाद एक्स्ट्रा खाना हो जाता है और पचता नहीं है।


व्यायाम न करना - यदि व्यक्ति दिन-भर काम करने के बाद या सुबह-सुबह टहलने जाता है तो उसका वजन कंट्रोल होता है और यदि कुछ व्यायाम भी रोज करे तो इससे सेहत पर अच्छा असर होता है। लेकिन आजकल की तेज लाइफ स्टाइल में लोग न सुबह घूम रहें हैं और न ही एक्सरसाइज कर पा रहे हैं। ऐसे में शरीर की चर्बी बढ़ने लगती है और व्यक्ति का वजन बढ़ जाता है।


कम पानी का सेवन - पानी कम मात्रा में पीना जिससे शरीर का संतुलन बिगड़ जाता है। पानी पर्याप्त मात्रा में पीने से खाना सही मात्रा में खिलाता है और पचता भी है। पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से कैलोरी भी कम होती है जिससे शरीर का संतुलन बना रहता है।


अत्यधिक तनाव - एक अध्यन से पता चला है कि जरुरत से ज्यादा मानसिक तनाव लेने के कारण कोर्टिसोल नामक स्ट्रेस हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है जो कि आपके वजन बढ़ने का कारण बनता है।


सुबह का नाश्ता - सुबह का नाश्ता न करना और खाली पेट घर के बाहर जाना जिससे आपके शरीर के संतुलन और मेटाबोलिज्म पर असर पड़ता है और वजन बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है।


चर्बी आहार - अत्यधिक चर्बीयुक्त खाना, खाना भी आपके शरीर का वजन बढ़ने का एक कारण बन सकता है।


दिन में सोना - सबसे ख़राब आदतों में से एक है दिन में सोना, दिन काम करने के लिए होता है न कि सोने के लिए। दिन में सोना आपके वजन बढ़ने के कारणों में एक सबसे बड़ा कारण हो सकता है।


वजन बढ़ने के कारण और भी हो सकते हैं। दोस्तों इस आर्टिकल में हमने अपने अध्यन में पाए जाने वाले कारणों को शामिल किया है जो कि ज्ञान में वृद्धि और जागरूकता का कारण बन सकता है लेकिन किसी भी उपाय या ट्रीटमेंट के लिए अपने डॉक्टर से ही संपर्क करें। यदि आपको ये आर्टिकल अच्छा लगा हो तो प्लीज शेयर जरूर करें और कोई ज्ञान आप हमारे साथ बाँटना चाहते है तो कृपया कमेंट करके हमें जरूर बताएं।
Susheel Tiwari

I am a hindi content writer and i am writing for many hindi blogs and i love to help people in hindi . यदि आप अपने ब्लॉग के लिए आर्टिकल लिखवाना चाहते हैं, तो इस वेबसाइट के नीचे दिए गए Contact Us के माध्यम से मुझसे संपर्क कर सकते हैं। धन्यवाद !

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post