स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाये दें | 15 August shayari swatantrata diwas shayari independence day shayari

हर बर्ष हम स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मनाते हैं क्यूंकि हम अपने आजादी संघर्ष और स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान को भूल नहीं चाहते। भारत के हर बच्चे, बूढ़े, युवा को आजादी की कहानियाँ मालूम है। यहाँ हमने आज के आर्टिकल में 15 अगस्त शायरी, इंडिपेंडेंस डे शायरी, स्वतंत्रता दिवस शायरी का संकलन किया है आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें और एक पंद्रह अगस्त की शायरी भेज कर अपने परिवारजन और दोस्तों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाये दें।  

15 August shayari swatantrata diwas shayari independence day shayari

Swatantrata diwas shayari



तिरंगा लहरायेंगें,भक्ति गीत गुनगूनायेंगें
वादा करो इस देश को
दुनिया का सबसे प्यारा देश बनायेंगे
15 अगस्त की हार्दिक शुभकामनायें 

---


हम आजाद हैं, ये आजादी कभी छिनने नहीं देंगे
तिरंगे की शान को हम कभी मिटने नहीं देंगे
कोई आंख भी उठाएगा जो हिंदुस्तान की तरफ
उन आंखों को फिर दुनिया देखने नहीं देंगे
हैप्पी इंडिपेंडेंस डे 

---


आओ देश का सम्मान करें
शहीदों की शहादत याद करें
एक बार फिर से राष्ट्र की कमान
हम हिंदुस्तानी अपने हाथ धरे
आओ स्वतंत्रता दिवस का मान करें
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें 

---


भूल न जाना भारत मां के सपूतों का बलिदान
इस दिन के लिए हुए थे जो हंसकर कुरबान
आजादी की ये खुशियां मनाकर लो ये शपथ
कि बनाएंगे देश भारत को और भी महान


---


गुलाम बने इस देश को आजाद तुमने कराया है
सुरक्षित जीवन देकर तुमने कर्ज़ अपना चुकाया है
दिल से तुमको नमन है करते
ये आजाद वतन जो दिलाया है


15 august shayari



ना पूछो ज़माने को
क्या हमारी कहानी हैं
हमारी पहचान तो सिर्फ ये हैं
की हम सिर्फ हिंदुस्तानी हैं


---


चलो फिर से वो नजारा याद कर लें
शहीदों के दिल में थी जो ज्वाला वो याद कर लें
जिसमें बहकर आजादी पहुंची थी किनारे पर
बलिदानियों के खून की वो धारा याद कर लें


---


आन देश की शान देश की, देश की हम संतान हैं
तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी ये पहचान है


---


मैं भारत का हर दम सम्मान करता हूं
यहां की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूं
मुझे चिंता नहीं स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की
तिरंगा हो कफन बस यही अरमान रखता हूं


---


आओ झुक कर सलाम करे उन्हें
जिनकी ज़िन्दगी में ये मुकाम आया है
किस कदर खुशनसीब है वो लोग
जिनका लहू भारत देश के काम आया है
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभ कामनायें


Shayari on independence day in hindi



इश्क तो करता है हर कोई
महबूब पर मरता है हर कोई
कभी वतन को महबूब बना कर देखो
तुझ पर मरेगा हर कोई


---


चलो फिर से खुद को जगाते है
अनुसाशन का डंडा फिर घूमाते है
सुनहरा रंग है गणतंत्र स्वतंत्रता का
शहीदों के लहू से ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते है


---


खुशनसीब है वे जो वतन पर मिट जाते हैं
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं
करता हूं उन्हें सलाम ए वतन पर मिटने वालों
तुम्हारी हर सांस में तिरंगे का नसीब बसता है


---


वतन हमारा मिसाल है मोहब्बत की
तोड़ता है दीवारें नफरत की
ये मेरी खुश नसीबी है जो मिली जिन्दगी इस चमन में
और भुला न सके कोई भी इसकी खूशबु सातों जनम में


---


मुझे तन चाहिए ना धन चाहिए
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए
जब तक जिंदा हूं मातृभूमि के लिए
और जब मरू तो तिरंगा कफन चाहिए


Happy independence day shayari



जब “इश्क और क्रांति” का अंजाम एक ही है
तो राँझा बनने से अच्छा है भगतसिंह बन जाओ


---


तिरंगा आन है अपनी तिरंगा शान है अपनी
न धन-दौलत न शोहरत बस तिरंगा शान है अपनी
सभी इस बात को मन के हर एक पन्ने पर लिख लेना
यही गीता यही बाइबल यही कुरआन है अपनी


---


यदि प्रेरणा शहीदों से नहीं लेंगे
तो ये आजादी ढलती हुई साँझ हो जायेगी
और पूजे न गए, वीर
तो सच कहता हूँ कि नौजवानी बाँझ हो जायेगी


---


देशभक्ति के तराने गाएं
आओ स्वतंत्रता दिवस मनाए
दुश्मनों की है हम पर कुटिल नजर
आतंकवाद के रूप में ढा रहे कहर


---


यदि प्रेरणा शहीदों से नहीं लेंगे
तो ये आजादी ढलती हुई साँझ हो जायेगी
और पूजे न गए, वीर
तो सच कहता हूँ कि नौजवानी बाँझ हो जायेगी


Independence day shayari in english


जिसका ताज हिमालय है
जहां बहती है गंगा
जहां अनेकता में एकता है
सत्यमेव जयते जहाँ नारा है
वह भारत देश हमारा है


---


है नमन उनको, जो यशकाय को अमरत्व देकर
इस जगत में शौर्य की जीवित कहानी हो गये हैं
है नमन उनको, जिनके सामने बौना हिमालय
जो धरा पर गिर पड़े, पर आसमानी हो गये हैं


---


सीने में जुनून और आंखों में देशभक्ति की चमक रखता हूँ
दुश्मन की सांसे थम जाए आवाज में इतनी धमक रखता हूं


---


जब आंख खुले तो धरती हिंदुस्तान की हो
जब आंख बंद हो तो यादें हिंदुस्तान की हो
हम मर भी जाए तो कोई गम नहीं
मरते वक्त मिट्टी हिंदुस्तान की हो


---


वतन हमारा शान-ए-जिंदगी
वतन परस्ती है वफा-ए-जमी
देश के लिए मर मिटने कुबूल है हमें
अखंड भारत के सपने का जुनून है हमें


15 august ki shayari



सलाम करें उनको जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है
खुशनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है


---


वतन हमारा मिसाल मोहब्बत की
तोड़ता है दीवार नफरत की
मेरी खुशनसीबी है जो मिली जिंदगी इस चमन में
भुला ना सकेंगे इसकी खुशबू सातों जन्म में


---


छोड़ो कल की बातें कल की बात पुरानी 
नए दौर में लिखेंगे हम मिलकर नई कहानी
हम हिंदुस्तानी हम हिंदुस्तानी जय हिंद जय भारत


---


गूंज रहा है दुनिया में भारत का नगाड़ा
चमक रहा आसमान में देश का सितारा
आजादी के दिन आओ मिलकर करें दुआ
बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा


---


इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना 
रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना 
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने 
ऐसे तिरंगे को दिल में हमेशा बसाए रखना


Shayari for independence day



दिल हमारे एक हैं एक हमारी जान है
हिंदुस्तान हमारा है हम इसकी शान हैं
जान लुटा देंगे वतन पर हो जायेंगे कुर्बान
इसलिए हम कहते हैं मेरा भारत महान


---


किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूं
अपनी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूं
अपनी छाती से मुझे तू लगा लेना भारत मां
मुझे अपनी छाती से लगा लेना तू भारत मां
मैं अपनी मां की बाहों को तरसता छोड़ आया हूं


---


वतन हमारा ऐसा कोई छोड़ ना पाए
रिश्ता हमारा ऐसा कोई तोड़ ना पाए
दिल हमारा एक है एक हमारी जान है
हिंदुस्तान हमारा है और हम इसकी शान हैं


---


किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूं
अपनी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूं
अपनी छाती से मुझे तू लगा लेना भारत मां
मुझे अपनी छाती से लगा लेना तू भारत मां
मैं अपनी मां की बाहों को तरसता छोड़ आया हूं


Swatantrata diwas par shayari



नजारे नजर से ये कहने लगे
नयन से बड़ी कोई चीज नहीं
तभी मेरे दिल ने ये आवाज दी
वतन से बड़ी कोई चीज नहीं


---


ए मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा 
यह शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा 
पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गंवाए 
कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर ना आए


---


तैरना है तो समंदर में तैरों नालों में क्या रखा है
प्यार करना है तो देश से करो औरों में क्या रखा है


---


चढ़ गये जो हंसकर सूली
खाई जिन्होने सीने पर गोली
हम उनको प्रणाम करते हैं
जो मिट गये देश पर
हम सब उनको सलाम करते हैं
स्वतंत्रता दिवस की बधाई


---


लिख रहा हूँ मैं अंजाम जिसका कल आगाज आएगा
मेरे हर एक लहू का कतरा इकलाब लाएगा
मैं रहूँ या न रहूँ पर यह वादा है तुमसे मेरा की
मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आएगा


15 august urdu shayari



विकसित होता राष्ट्र हमारा
रंग लाती हर कुर्बानी है
फक्र से अपना परिचय देते
हम सारे हिंदुस्तानी हैं


---


दुश्मन की गोलियों का सामना हम करेंगे
आजाद है आजाद ही रहेंगे


---


शम्मा-ए-वतन की लौ पर
जब कुर्बान पतंगा हो
होठों पर गंगा हो
हाथों में तिरंगा हो
स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें


---


देश पर जिसका खून ने खौले
खून नहीं वो पानी है
जो देश के काम न आए वो बेकार जवानी हैं


---


लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमान पर
भारत का ही नाम होगा सबकी जुबान पर 
ले लेंगे उसकी जान या खेलेंगे अपनी जान पर
कोई जो उठाएगा आँख हिंदुस्तान पर


Shayari 15 | Independence day shayari



हर तूफान को मोड़ देंगे जो हिन्दुस्तान से टकराए
चाहे तेरा सीना हो छलनी, तिरंगा ऊँचा ही लहराए


---


मै इसका हनुमान हु,यह मेरा राम है
सीना चीरकर कर देख लो,अन्दर वास करता हिंदुस्तान ही है


---


ये बात हवाओं को भी बताये रखना
रौशनी होगी चिरागों को भी जलाये रखना
लहू देकर जिसकी हिफाजत की हमने
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना


---


वो आजादी की ख़ुशी
वो क़ुरबानी का गम
जिसे याद करके आंखे होती है नम

किसी का पति, किसी का बेटा
नया नया वो पिता किसी का
देश पर कुर्बान हो गया वो लाल सभी का


Shayari on independence day in hindi



दे सलामी इस तिरंगे को
जिससे तेरी शान है
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका
जब तक दिल में जान है


---


आ चीर मेरी छाती और देख ले
कैसा जूनून रखता हूँ
जिश्म पर वर्दी और
दिल में वतन रखता हूँ
वतन के लिए कुर्बान हो जाना नशीब वालों को मिलता है
इसलिए साथ में देश की मिट्टी और कफन रखता हूँ


---


जमाने भर में मिलते है आशिक कई
मगर वतन से खूबसूरत कोई कफन नहीं होता
नोटों में लिपट कर और सोने में लिपटकर मरे है कई
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफन नहीं होता


---


देश की आन हमारी शान हमारी, देश की हम संतान है
तीन रंगो में सजा तिरंगा, हम भारतियों की पहचान है
Happy Independence Day


---


कुछ नशा तिरंगे की आन का है
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा
नशा ये हिन्दुस्तान का सम्मान का है


Happy independence day shayari



वक्त आ गया है अब दुनिया से साफ-साफ कहना होगा
देशप्रेम की प्रबल धार में हर मन को बहाना होगा
अगर जिसे तिरंगा लगे पराया, मेरा देश छोड़ जाए
हिंदुस्तान में हिंदुस्तानी बनकर रहना होगा


---


धरती सुनहरी अंबर नीला हर मौसम रंगीला
ऐसा देश है मेरा


---


जो भरा नहीं है भावों
बहती जिसमें रसधार नहीं
वह ह्रदय नहीं पत्थर है
जिसमे स्वदेश का प्यार नहीं


Desh par shayari | shahidon par shayari



आजादी की कभी शाम ना होंगे देंगे
शहीदों की कुर्बानी बदनाम ना होने देंगे
बची है लहू की एक बूँद भी रगों में
तब तक भारत माता का आँचल नीलाम ना होने देंगे


---


यह उसी मिट्टी की चमक है
जिस पर अनेको कुर्बान हुए
और निखर रही ये धरा
यह भारत भूमि महान हैं


---


वतन पर जो फिदा होगा, अमर वो हर नौजवान होगा
रहेगी जब तक दुनिया ये, अफसाना उसका बयाँ होगा


---


हर करम अपना करेंगे ए वतन तेरे लिए दिल दिया है
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए

दोस्तों आपको आज का आर्टिकल अच्छा लगा होगा, आप सभी को हमारी टीम की ओर स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाये। हम आशा करतें हैं कि आपका और हमारा साथ यूँ ही बना रहेगा। 
Susheel Tiwari

I am a hindi content writer and i am writing for many hindi blogs and i love to help people in hindi . यदि आप अपने ब्लॉग के लिए आर्टिकल लिखवाना चाहते हैं, तो इस वेबसाइट के नीचे दिए गए Contact Us के माध्यम से मुझसे संपर्क कर सकते हैं। धन्यवाद !

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post